व्यापारी द्वारा सेवा देने पर शिक्षा चर्चा!

छोटे व्यवसायियों को बहीखाता सेवाएँ उपलब्ध कराना, बहुत मामूली कीमत पर मा खरीदी जा सकने वाली सर्वोत्तम चीज के बराबर है। विशिष्ट ज्ञान, साथ में कल्पना, वो तत्व थे जिनसे यह अनूठा और सफल काले चल पाया। पिछले साल उस व्यापार के मालिक ने उस व्यापारी से दस गुना अधिक आयकर का भुगतान किया जिसके लिए वह तब काम किया करता था जब अवसान ने उसे एक अस्थायी विपरीत परिस्थिति के लिए मजबूर किया, जो कि उस भेष में एक वरदान साबित हुई। इस सफल कारोबार की शुरुआत एक विचार था! यद्यपि मुझे इस विचार के साथ बेरोजगार विक्रेता की आपूर्ति करने का सौभाग्य मिला, अब मैं एक और विचार सुझाने के सौभाग्य की कल्पना करता हूँ जिसके भीतर और भी अधिक आय की संभावना है। इसके अलावा उन हजारों लोगों को उपयोगी सेवा प्रदान करने की संभावना है, जिन्हें उस सेवा की सख्त जरूरत है। इस विचार का सुझाव उस विक्रेता द्वारा दिया गया था जिसने बेचना छोड़ दिया और थोक आधार पर हिसाब किताब रखने का कारोबार करने लगा। जब योजना का सुझाव अपनी बेरोजगारी की समस्या के एक समाधान के रूप में दिया गया था, तो उसने तुरंत कहा, “मुझे यह विचार पसंद है, लेकिन मैं नहीं जानता इसे नकदी में कैसे बदलते हैं।” दूसरे शब्दों में, उसने शिकायत की, बहीखाता ज्ञान हासिल करने के बाद उसे पता नही था, इसे कैसे बेचा जाये। तो अब एक और समस्या खड़ी हो गइ जिसे हल किया जाना था। हाथ अभिलेख में चतुर एक जवान महिला टाइपिस्ट, और जो कहानी को एक साथ कर सकती थी, की सहायता से, बहीखाते की नई प्रणाली के फायदों का वर्णन करती एक बहत ही आकर्षक किताब तैयार की गई!

पष्ठों को बड़े करीने से टाइप किया और एक साधारण स्क्रैपबुक में लगाया गया था, जिसे एक मक विक्रेता के रूप में इस्तेमाल किया गया था जिसके साथ इस नए कारोबार की कहानी इतने प्रभावी ढंग से कही गई थी कि जल्द ही इसके मालिक के पास उसकी संभालने की क्षमता की तुलना में अधिक खाते थे। देश भर में हजारों लोग हैं जिन्हें व्यक्तिगत सेवाओं के विपणन में इस्तेमाल के लिए एक आकर्षक संक्षिप्त तैयार करने में सक्षम एक बिक्री उत्पाद विशेषज्ञ की सेवाओं की जरूरत है। एक ऐसी सेवा से कुल वार्षिक आय आसानी से सबसे बड़ी रोजगार एजेंगीता प्राप्त की गई आय से अधिक हो सकती है, और खरीदार के लिए सेवा के लाभ रोजगार एजेंसी से प्राप्त किये जाने वाले किसी भी अन्य लाभ से कहीं अधिक हो सकते हैं। यहाँ वर्णित आईडिया का जन्म आवश्यकता से हुआ था, जिससे एक आपात स्थिति को पाटा जाना था, लेकिन यह महज एक व्यक्ति की सेवा करके नहीं रुका!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *